Your #1 source for best news and interesting links on the web

आरएनई स्थित के डब्ल्यू सृष्टी सोसायटी में नेचुरोपैथी पर एक्सपर्ट सेशन का आयोजन

गाजियाबद के राजनगर एक्सटेंशन स्थित के डब्ल्यू सृष्टी सोसाईटी में दिल्ली-एनसीआर के प्रसिद्ध नेचुरोपैथी ट्रीटमेंट सेंटर ईको लाईव के तत्वाधान में नेचुरोपैथी पर एक एक्सपर्ट सेशन का आयोजन किया गया। इस सेशन का संचालन ईको लाईव की चीफ पेट्रोन सुश्री विनोद कुमारी के निर्देशन में हुआ। नेचुरोपैथी या प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली, चिकित्सा की एक रचनात्मक विधि है जिसके अन्तर्गत प्रकृति में प्रचूर मात्रा में उपलब्ध तत्वों के उचित इस्तेमाल द्वारा रोग के मूल कारण को समाप्त किया जाता है। इस प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति में जल चिकित्सा, सूर्य चिकित्सा, मृदा चिकित्सा आदि विभिन्न पद्धतियों का इस्तेमाल करते हुए प्राकृतिक भोजन एवं मिट्टी की पट्टी एवं विभिन्न प्रकार के स्नान एवं मालिश द्वारा जटिल से जटिल रोगों का इलाज किया जाता है।

इस अवसर पर बोलते हुए सुश्री विनोद कुमारी ने कहा, नेचुरोपैथी चिकित्सा के क्षेत्र में एक क्रांति बनकर उभरा है। यह न केवल एक चिकित्सा पद्धति है बल्कि मानव शरीर में उपस्थित आंतरिक महत्त्वपूर्ण शक्तियों या प्राकृतिक तत्त्वों के अनुरूप एक जीवन-शैली है जिसके द्वारा रोगाणुओं से लड़ने की शरीर की स्वाभाविक शक्ति को बढ़ाया जाता है। हमारे रक्तवाहिकाओं में से हानिकारक एवं विषाक्त पदार्थों को निकालने एवं रक्त परिसंचरण में सुधार लाने की इस पद्धति द्वारा हमें प्रकृति के और भी समीप जाने का अवसर मिलता है और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसका कोई साईड इफेक्ट नहीं है।

के डब्ल्यू सृष्टी सोसाईटी के निवासियों ने इस अवसर का लाभ उठाते हुए अपनी कई हेल्थ समस्याओं के निराकरण के सुश्री कुमारी से सलाह ली। इस अवसर पर सोसायटी के अनेक गणमान्य नागरिक श्री विकास आहुजा, श्री संजीव वर्मा, श्री दीपक शर्मा, डॉ. देवेन्द्र कुमार शर्मा, श्री अमित जैन, श्री रवि गुप्ता, श्री नवीन वर्मा, श्री विश्वजीत मोहन्ती, श्री देवेन्द्र सिबल, श्री विनोद प्रधान, श्री अनुप्रीत बोरकर, श्री गौरव त्यागी, श्री प्रशान्त सिंह, श्री श्याम गोयल, श्री अनादिपाल, श्री अंकुर जैन, श्री नरेंद्र तोमर, श्री मोहित नारायण इत्यादि लोग भी उपस्थित रहे।


Leave a Comment

Loading...
Menu Title